Tue. Jun 25th, 2024

किन्नौर जिला में 18 वर्ष से अधिक आयु के सभी पात्र व्यक्तियों को कोविड वैक्सीनेशन के लिए 21 से 25 जून तक चलाया जाएगा विशेष अभियान। यह जानकारी आज यहां उपायुक्त हेमराज बैरवा ने कोविड-19 महामारी को लेकर गठित जिला टाॅस्क फोर्स की बैठक के उपरान्त पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए दी।
उपायुक्त ने कहा कि इस दौरान जिले के सभी पात्र व्यक्तियों को कोविड का पहला टीका लगाया जाएगा। प्रदेश सरकार द्वारा जनजातीय व दूर-दराज के क्षेत्रों में सभी पात्र व्यक्तियों के टीकाकरण का लक्ष्य रखा गया है जिसके तहत जिले में यह अभियान चलाया जाएगा। उन्होंने कहा कि इसके लिए आॅफलाईन टीका लगाने के स्थान पर ही पंजीकरण किया जाएगा।
उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा क्षेत्रीय अस्पताल रिकांग पिओ के अलावा जिले के सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों तथा उप-स्वास्थ्य केन्द्रों में टीकाकरण किया जाएगा। उपायुक्त ने कहा कि जिले के ऐसे मजदूरों जिनके पास सरकार द्वारा निर्धारित पहचान जिनमें आधार कार्ड, मतदाता पहचान पत्र, पासपोर्ट, ड्राईविंग लाईसेंस, पेन-कार्ड, एन.पी.आर स्मार्ट कार्ड व पैंशन दस्तावेज भी नहीं होंगें उनका भी टीकाकरण किया जाएगा जिसके लिए उनका पंजीकरण स्थानीय ग्राम पंचायत के सचिव या अन्य किसी अधिकारी द्वारा किया जाएगा।
बैरवा ने कहा कि टीकाकरण के इस विशेष अभियान को सफल बनाने के लिए जिला प्रशासन द्वारा सभी तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि 25 जून तक जिले के सभी नागरिकों को कोविड की प्रथम डोज़ अवश्य लग जाएगी। उन्होंने इसके लिए स्थानीय ग्राम पंचायत के पंचायत प्रतिनिधियों, स्वयं सेवी संस्थाओं, महिला मण्डल व युवक मण्डल के स्वंय सेवियों से भी आग्रह किया कि वे लोगों को टीकाकरण के लिए प्रेरित करें ताकि किन्नौर जिला टीकाकरण के लक्ष्य को पूरा करने में सफल हो सके।
उपायुक्त ने बताया कि जिले में 70,390 व्यक्तियों के टीकाकरण का लक्ष्य रखा गया था तथा अब तक जिले में 49 प्रतिशत 34,450 व्यक्तियों ने कोविड का पहला टीका लगा लिया है जबकि निर्धारित लक्ष्य के 26 प्रतिशत 8,870 व्यक्तियों द्वारा कोविड का दूसरा टीका भी लगा लिया गया है।
उन्होेंने कहा कि विदेश जाने वाले व्यक्तियों को कोविड की दूसरी डोज 28 दिन बाद लगाई जाएगी। उन्होंने कहा कि इस अभियान को सफल बनाने के लिए सभी सुरक्षा इंतजाम पूर्ण कर लिए गए हैं। कलस्टर मोड पर रोगी वाहन सुविधा उपलब्ध रहेगी। उन्होंने कहा कि धातृ माताएं भी टीका लगा सकती हैं।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. सोनम नेगी ने लोगों से आग्रह किया कि वे टीकाकरण के लिए अपने निकटतम स्वास्थ्य संस्थान पहुचें। उन्होंने कहा कि टीकाकरण से हमारे स्वास्थ्य पर कोई भी बुरा प्रभाव नहीं पड़ता है।
इस दौरान उपमण्डलाधिकारी कल्पा डाॅ. मेजर अवनींद्र कुमार, सहायक आयुक्त मुनीष कुमार, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. सोनम नेगी, परियोजना अधिकारी ग्रामीण विकास अभिकरण जयवंती ठाकुर, निगरानी अधिकारी डाॅ. कविराज, डाॅ. अन्वेषा, जिला आर्युवैदिक अधिकारी डाॅ. अशोक चंद्र, उप-निदेशक उच्चतर शिक्षा जोगिन्द्र सिंह राव व अन्य विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।
.0.