Sun. May 26th, 2024

जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण व राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल द्वारा आज जिला किन्नौर स्थित आईटीडीपी भवन में टेबल टाॅप एक्सरसाईज का आयोजन किया गया जिसकी अध्यक्षता उपायुक्त हेमराज बैरवा ने की। उन्होंने बताया कि किन्नौर जिला की स्थलाकृती प्राकृतिक आपदा जैसे कि बादल फटना, भू-स्खलन, भूकंप को लेकर अति संवेदनशील क्षेत्र में आती है, इसलिए आपदा प्रबंधन को लेकर समय-समय पर इस तरह की मॉक ड्रिल आवश्यक हो जाती है ताकि प्राकृतिक आपदा से होने वाले नुकसान को कम किया जा सके।
बैठक में उपस्थित राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल के डिप्टी कमान्डेन्ट मुकेश गौड़ ने जानकारी देते हुए बताया कि टेबल टाॅप माॅक ड्रील एक महत्वपूर्ण प्रक्रिया है जिससे हमें आपदा होने के दौरान आने वाली समस्याओं तथा इससे निपटने की तैयारियों का पता चलता है। इस तरह की एकसरसाईज विभिन्न त्वरित कार्यवाही दलों के मध्य समन्वय बढ़ाती है तथा आपदा के दौरान उनके दायित्व को स्पष्ट करती है।
सहायक आयुक्त मुनीष कुमार शर्मा ने बताया कि जिला किन्नौर स्थित टी.एस. नेगी महाविद्यालय रिकांग पिओ के खेल मैदान में जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण व राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल द्वारा 24 नवम्बर, 2020, प्रात 10ः30 बजे माॅक ड्रील का आयोजन किया जाएगा, जिसमें की विभिन्न सरकारी विभाग, बी.आर.ओ, जी.आर.ई.एफ, व स्वयंसेवी संगठन भाग लेगें। इसके उपरान्त राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल द्वारा आपदा प्रबंधन में इस्तेमाल होने वाले उपकरणों को भी दर्शाया जाएगा।
इस अवसर पर पुलिस, जी.आर.ई.एफ, गृह-रक्षा तथा विभिन्न सरकारी विभागों के प्रतिनिधि उपस्थित थे।