Mon. Mar 4th, 2024

थाना कण्डाघाट में श्री हिरानन्द मोदगिल निवासी वाकनाघाट व अन्य स्थानीय निवासियों कुल 9
शिकायतकर्ताओं द्वारा संयुक्त रूप से लिखित एक शिकायत पत्र प्राप्त हुआ था, जिसमें इन लोगों ने आरोप लगाये थे कि मनजीत सिंह
नाम का एक व्यक्ति, जो वाकनाघाट में अपने परिवार सहित श्री लक्ष्मी दत्त के मकान में रहता था, ने अपनी बेटी के साथ मिलकर
इन लोगों के साथ धोखाधड़ी की है । इसने अपने आप को आर्मी का ठेकेदार बताकर इन लोगों की दुकानों से सरिया, सीमैन्ट, बजरी,
रेत तथा राशन खरीदा तथा खरीदे गये सामान का भुगतान नहीं किया । इसके अतिरिक्त इसने इन लोगों से पैसे भी उधार लिये ।
मनजीत सिंह ने इन लोगों से सामान व नकदी के रूप में कुल मिलाकर क़रीब 30 लाख रू0 की ठगी की है । यह व्य़क्ति इन लोगों से
ठगी करने के उपरान्त परिवार सहित दिनाँक 27-12-2021 से गायब हो गया था । इस शिकायत पर थाना कण्डाघाट में मनजीत
सिंह के खिलाफ अभियोग दिनाँक 30-12-2021 धोखाधड़ी की धाराओं में पजींकृत किया गया था । इस अभियोग के अन्वेषण के
दौरान पाया गया कि आरोपी मनजीत सिंह ने वाकनाघाट में जिन लोगों से उपरोक्त सामान खरीद किया था, उन्हें जो बैंक चैक दिये
थे वह इसकी पुत्री मनप्रीत कौर द्वारा हस्ताक्षरित थे तथा उपरोक्त सामान के बिल भी मनप्रीत कौर के नाम पर ही जारी थे ।
आरोपियों द्वारा दिये गये चेक बाउंस हो गए और विक्टिम्स का पैसा इन्होंने हड़प कर लिया।अन्वेषण के दौरान पाया गया कि
मनप्रीत कौर ने अपने पिता के साथ मिलकर इस धोखाधड़ी को अन्जाम दिया है। इन सभी आरोपियों ने अपने आधार कार्ड जाली
दिये और कोई स्थायी पते की जानकारी नहीं दी और अपना पता भी झूठा बताया जिसके चलते अभियोग में पुलिस टीम कई बार
जम्मू कश्मीर, पंजाब , हरियाणा, उत्तरप्रदेश आदि राज्यों में इनकी छानबीन कर चुकी थी और सभी जगह पर झूठे पते पाये गये। इस
अभियोग के अन्वेषण के दौरान थाना कंडाघाट की टीम ने लगातार प्रयास करते हुए सहारनपुर से आरोपी की शिनाख्त पक्की की और
दिनाँक 27-11-2023 को आरोपिया मनप्रीत कौर पुत्री मन्जीत सिहं निवासी किरायेदार मोहाली पंजाब उम्र 26 साल को मोहाली
से गिरफ्तार किया गया है, जिसे दिनाँक 28-11-2023 को अदालत में पेश करके 4 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया है।
आरोपियों द्वारा इस धोखाधड़ी के अपराध को अंजाम देने के लिए प्रयोग किए गए 2 वाहनों ,टाटा सफारी और होंडा अमेज़ को भी
मुक़दमा में ज़ब्त किया गया है।अभियोग का अन्वेषण जारी है ।