Tue. Sep 26th, 2023

दशहरा में श्रद्धा व सम्मान के साथ देवी- देवताओं को दिया जाएगा निमंत्रण-डीसी

कुल्लू 30 सितंबर।  जिलाधीश आशुतोष गर्ग ने कहा कि कुल्लू का अंतरराष्ट्रीय दशहरा महोत्सव देव समागम और देव परंपरा  तथा लोगों की अपार आस्था का प्रतीक है। इस बार दशहरा उत्सव का शुभारंभ 15 अक्तूबर को जबकि समापन 21 अक्टूबर को होगा। डीसी ने कहा की देव समाज तथा लोगों की भावनाओं और आस्था का सम्मान करते हुए श्रद्धा पूर्वक देवी देवताओं को दशहरा उत्सव में पधारने के लिए निमंत्रण दिया जाएगा। वह आज दशहरा उत्सव की तैयारियों की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए बोल रहे थे।
आशुतोष गर्ग ने कहा कि जिला के कुल 332 देवी देवता  प्रशासन के पास पंजीकृत हैं और इन सभी देवी देवताओं को बाकायदा दशहरे के लिए निमंत्रण पत्र दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि इसके अलावा भी कुछ और देवी देवता दशहरा उत्सव में भाग लेते हैं उनका भी स्वागत और सम्मान करेंगे। उन्होंने कहा कि जो देवता दशहरा उत्सव में आएंगे वह इसकी सूचना तहसीलदार मित्र देव को समय पर दे।  उन्होंने कहा कोविड-19 के इस दौर में दशहरा उत्सव का स्वरूप किस प्रकार का रहेगा इसको लेकर मुख्यमंत्री स्तर पर मंत्री स्तर पर तथा जिला व प्रशासन स्तर पर अनेक बार देव समाज व कार दारों के साथ मंथन हो चुका है और जो कुछ भी सुझाव आए उन्हीं को ध्यान में रखते हुए इस बार देवी देवताओं का यह महाकुंभ उत्सव में देखने को मिलेगा।  उन्होंने कहा देवताओं के लिए बैठने और उपयुक्त स्थान की अच्छे से व्यवस्था की जाएगी और कार दारों तथा देवलूओं सभी का ख्याल रखा जाएगा जो भी देवता के साथ लोग आएंगे। उन्होंने कहा कि इस बार दशहरा उत्सव में व्यापारिक गतिविधियां नहीं होगी, जिसके चलते दशहरा में पूर्व की भांति आय भी
नहीं होगी। इसलिए देवताओं को नजराना प्रदान करना संभव नहीं होगा। इस बारे पहले ही देव समाज से जुड़े सभी लोगों के साथ व्यापक विचार-विमर्श कर लिया गया है।
जिलाधीश ने कार दार संघ, देवलुओं व बजंतरियों सहित तमाम लोगों से अपील की है कि कोरोना वैक्सीन के दोनों दोस्त दशहरा उत्सव से पहले प्राप्त कर लें और जिला प्रशासन का इस बात के लिए सहयोग करें कि आप दोनों डोज प्राप्त करने के बाद महामारी से पूरी तरह सुरक्षित हैं। उन्होंने कहा के 18 प्लस के सभी लोगों को दूसरी डोज 15 अक्टूबर तक देय है और यह जरूरी है कि ढालपुर मैदान में जो भी व्यक्ति आएगा वह पहले दूसरी डोज जरूर प्राप्त
 कर लें।
जिलाधीश ने कहा कि दशहरा उत्सव में बाहरी प्रदेशों से आने वाले सभी लोगों को वैक्सीन कि दोनों डोज अथवा rt-pcr के साथ आना होगा। उन्होंने कहा हालांकि रैपिड एंटीजन टेस्ट की सुविधा भी उपलब्ध रहेगी। उन्होंने कहा के अंतरराष्ट्रीय स्तर के इस महापर्व में कोरोना महामारी का विस्फोट ना हो इसके लिए जरूरी है कि सभी लोग ढालपुर मैदान में वैक्सीन के दोनों डोज लगाने के बाद ही प्रवेश करें। उन्होंने कहा की ऐसी सख्ती इसलिए भी जरूरी है कि 18 साल से कम आयु के बच्चों को अभी वैक्सीन नहीं लगी है और सभी का दायित्व है कि हम अपने बच्चों को सुरक्षित रखने के लिए सरकार के और जिला प्रशासन के दिशा निर्देशों का पालन करें।
उपायुक्त ने कहा कि जिला में जहां 100 फ़ीसदी पात्र आबादी को कोरोना की पहली वैक्सीन उपलब्ध करवाई जा चुकी है वहीं दूसरी डोज 47 फ़ीसदी लोगों ने प्राप्त कर ली है। उन्होंने कहा कि जिला में 50000 से अधिक लोग ऐसे हैं जिन्हें पहली डोज प्राप्त किए 84 दिन की अवधि पूरी हो चुकी है लेकिन दूसरी डोज के लिए लोग स्वास्थ्य केंद्रों पर नहीं आ रहे हैं। उन्होंने आम जनमानस से आग्रह किया है कि 84 दिन की अवधि पूरी होने पर वैक्सीन की दूसरी डोज तुरंत से लगवाए अन्यथा महामारी से बचने के लिए व्यक्ति में पर्याप्त एंटीबॉडी नहीं बनेगी और हमेशा संक्रमण का भय उस व्यक्ति को बना रहेगा। उन्होंने कहा कि जिला में नवंबर महीने तक शत प्रतिशत लोगों को कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज उपलब्ध करवाने का लक्ष्य है और स्वास्थ्य विभाग इसे पूरा करने के लिए अभी से प्रयासरत है।  उन्होंने लोगों से यह भी आग्रह किया कि यदि किसी को कोरोना महामारी के सिमटम है अथवा सर्दी जुकाम की शिकायत है तो वह ढालपुर मैदान में दशहरा उत्सव के दौरान ना आए और अपने आप को घर में क्वारंटाइन करें।
आशुतोष गर्ग ने सभी विभागीय अधिकारियों से अंतरराष्ट्रीय दशहरा पर्व के दौरान की जाने वाली व्यवस्थाओं पर विस्तार पूर्वक चर्चा की और विभागों को उनके दायित्वों को अच्छे से करने के निर्देश दिए। उन्होंने नगर परिषद को कहा की ढालपुर मैदान की सफाई व्यवस्था के लिए कम से कम 60 सफाई कर्मियों की तैनाती की जानी चाहिए।  ढालपुर मैदान में प्लास्टिक के उपयोग पर प्रतिबंध रहेगा। इस संबंध में जिला वासियों व दशहरा उत्सव में भाग लेने वाले लोगों से अपील की गई है कि वह प्लास्टिक के उपयोग से बचें।
पुलिस अधीक्षक गुरुदेव शर्मा ने कहा कि दशहरा उत्सव के दौरान सुरक्षा व्यवस्था तथा कानून व्यवस्था को सुचारू बनाने के लिए 400 पुलिस जवानों की तैनाती की जाएगी। इसके अलावा 7 होमगार्ड के जवानों की सेवाएं भी ली जाएंगी। उत्सव के दौरान ढालपुर मैदान में बिजली की आपूर्ति व पानी की व्यवस्था के लिए संबंधित अभियंताओं को निर्देश दिए।
अतिरिक्त उपायुक्त शिवम प्रताप सिंह ने बैठक की कार्यवाही का संचालन किया। बैठक में विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।