Tue. Apr 23rd, 2024

प्रदेश में जल जीवन मिशन में खर्चे जा रहे 750 करोड़, मिलेगी बेहतर पेयजल सुविधा: महेन्द्र सिंह ठाकुर
मंडी, 18 जुलाई : जल शक्ति, बागवानी व सैनिक कल्याण मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर ने कहा कि प्रदेश में जल जीवन मिशन के तहत पेयजल सुविधाओं को और अधिक बेहतर व सुदृढ़ बनाने पर 750 करोड़ रुपए खर्चे जा रहे हैं। मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर के मार्गदर्शन में यह तय बनाया जा रहा है कि हर घर को नल से शुद्ध जल की सुविधा हो। जल जीवन मिशन के प्रभावी कार्यान्वयन में हिमाचल देशभर में अव्वल रहा है।
महेन्द्र सिंह ठाकुर द्रंग विधानसभा क्षेत्र में बीते 20 सालों से विभिन्न विभागों के पास अनखर्चे पड़े धन का ब्यौरा लेने और विकास योजनाओं की समीक्षा को पधर में आयोजित बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे।
बीते 20 सालों के अनखर्चे पैसे का लिया ब्यौरा
जलशक्ति मंत्री ने बैठक में हर विभाग से द्रंग विधानसभा क्षेत्र में बीते 20 सालों से उनके पास अनखर्चे पड़े धन का बिन्दुवार ब्यौरा लिया। साथ ही जाना कि वर्ष 2000 से मार्च 2020 तक किस किस विभाग के पास अलग अलग मदों में कितना धन अनखर्चा पड़ा है। उसके खर्च न होने के कारण पूछे। निर्देश दिए कि विभाग अनखर्चे धन का सही सही ब्यौरा दें ताकि वो धनराशि क्षेत्र में किसी और कार्य के लिए डाइवर्ट की जा सके।
प्रदेश में विभागों के पास अनखर्चा पड़ा है 15 हजार करोड़
महेंद्र सिंह ठाकुर ने कहा कि मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने विभिन्न विभागों के पास लंबे अरसे से अनखर्चे पड़े धन का ब्यौरा लेने को यह सार्थक पहल की है ताकि इन पैसों का सदुपयोग हो और विकास कार्यों को गति दी जा सके। इसे लेकर मुख्यमंत्री ने विशेष सब कमेटी बनाई है। सब कमेटी ने प्रदेशभर में विभागों के साथ बैठके की हैं और ये सामने आया है कि करीब 15 हजार करोड़ रुपए ऐसे हैं जो बीते 20 सालों से अलग अलग विभागों के पास अनखर्च पड़े हैं।

महाशीर-ट्राउट पालन को बढ़ावा देने को बनाएं मास्टर प्लान
जल शक्ति मंत्री ने मत्स्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि महाशीर तथ ट्राउट किस्म की मछलियां पालन को बढ़ावा देने के लिए विभाग मास्टर प्लान तैयार करे ताकि लोगों को मत्स्य पालन के लिए प्रेरित किया जा सके। क्षेत्र में अनुकूल जलवायु के अनुरूप ट्राउट पालन को बढ़ावा दिया जाए। लुप्त हो रही महाशीर मछली प्रजाति को बचाने के लिए भी हर सम्भव प्रयास करें ।
उन्होंने अधिकारियों को द्रंग विधान सभा क्षेत्र की पंजोड़ी नाला पेयजल योजना का कार्य चार माह में पूरा करने के निर्देश दिए। उन्होंने बताया इस योजना के निर्माण से क्षेत्र की 17 ग्राम पंचायतें लाभान्वित होंगी।
विकास कार्यों को गति देने को दिए ये निर्देश
महेन्द्र सिंह ठाकुर ने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान अनेकों लोग निजी क्षेत्र से नौकरी छोड़कर प्रदेश में वापिस आए हैं। उन्हें स्वरोजगार के अवसर मुहैया करवाने के लिए सरकार प्रयत्नशील है। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि इन लोगों को कृषि व बागवानी क्षेत्र में अपना रोजगार शुरू करने के लिए प्रेरित करें।
उन्होंने समस्त विभागाध्यक्षों को निर्देश दिए कि मुख्यमंत्री द्वारा सम्बन्धित क्षेत्रों में की गई घोषणाओं पर प्राथमिकता के आधार पर कार्य करें ताकि इन योजनाओं को लोगों को शीघ्र लाभ मिल सके।
उन्होंने विद्युत विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि द्रंग विधान सभा क्षेत्र में लकड़ी के सभी विद्युत खम्बों को तुरन्त बदला जाए। लो वोल्टेज की समस्या के निदान के लिए विभिन्न स्थानों पर नए विद्युत ट्रांसफार्मर स्थापित किए जाएं।
मंत्री ने द्रंग विधान सभा क्षेत्र में जल जीवन मिशन के तहत चल रही विभिन्न विकास योजनाओं को शीघ्र पूरा करने के लिए सम्बन्धित विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जल जीवन मिशन के तहत जोगिन्द्रनगर के शेष बचे क्षेत्रों को भी शामिल करंे।
उन्होंने खनन अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए कि अवैध खनन करने वालों के खिलाफ सख्ती से निपटा जाए। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि अवैध खनन साईटों को चिन्हित कर उसका मास्टर प्लान बना कर प्रदेश सरकार को भेजें ताकि इन साईटों की नीलामी की जा सके।
साढ़े 6 हजार करोड़ की शिवा परियोजना
महेंद्र सिंह ठाकुर ने बताया कि शिवा परियोजना के तहत प्रदेश में सात खण्डों में 17 क्लस्टरों में साढ़े 6 हजार करोड़ रूपए व्यय कर बागवानी गतिविधियों को नई दिशा दी जा रही है। उन्होंने कहा कि इससे किसानों-बागवानों की आर्थिकी को मजबूती मिलेगी।
उन्होंने कृषि विभाग को निर्देश दिए कि जिला में लगभग 15 करोड़ की आबंटित राशि को शीघ्र योजनाओं पर व्यय कर लोगों को लाभान्वित करें।
स्थानीय विधायक जवाहर ठाकुर ने जलशक्ति मंत्री का धन्यवाद करते हुए कहा कि उनका बहुमूल्य मागदर्शन क्षेत्र के विकास के नए आयाम स्थापित करने में मददगाार होगा। उन्होंने कहा कि अब तक अनखर्चे रहे पैसे को संबंधित क्षेत्र में ही खर्च करने के सरकार फैसले से क्षेत्र में विकास को गति मिलेगी। उन्होंने इसके लिए मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर और जलशक्ति मंत्री का आभार जताया।
इस अवसर पर जोगिन्द्रनगर के विधायक प्रकाश राणा, जिला परिषद मंडी के उपाध्यक्ष पूर्ण ठाकुर, अधिक्षण अभियन्ता जल शक्ति विभाग उपेनद्र वैद्य, मुख्य चिकित्सा अधिकारी देवेन्द्र शर्मा, एसडीएम पधर शिव मोहन सैनी सहित समस्त विभागों के अधिकारी उपस्थित थे