Tue. May 28th, 2024

शूलिनी यूनिवर्सिटी ने सोलन के निवासियों के लिए खोला अपना पुस्तकालय

सोलन, 13 सितम्बर
शूलिनी विश्वविद्यालय ने सोलन शहर और अन्य पड़ोसी क्षेत्रों के सभी निवासियों के लिए अपनी सुसज्जित और आधुनिक पुस्तकालय खोलने का फैसला किया है।कुलपति प्रो अतुल खोसला ने घोषणा की है कि सोलन के लोगों की सेवा करने के लिए, विश्वविद्यालय के पुस्तकालय की सुविधाएं विश्वविद्यालय के छात्रों के अलावा सोलन के निवासियों के लिए खोली जाएंगी।
योगानंद नॉलेज सेंटर के निदेशक कर्नल टीपीएस गिल ने कहा कि कुलपति का विचार था कि पुस्तकालय के उद्घाटन के माध्यम से, सोलन के कई युवा जो उच्च अध्ययन या आईएएस, राज्य सेवाएँ, बैंकिंग सेवाएँ और रक्षा सेवाएँ, जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं में भाग लेने के इच्छुक हैं उनतक वो ज़रूरी पत्रिकाऐं पहुँचने में सक्षम होंगी जो अन्यथा उनकी पहुँच में नहीं हो सकती हैं।
उनके लिए पुस्तकालय प्रतिदिन सुबह 5 बजे से रात 9 बजे तक खुला रहेगा। यह ध्यान देने योग्य है कि विश्वविद्यालय पुस्तकालय विविध विषयों पर पुस्तकों और पत्रिकाओं के साथ बहुत अच्छी तरह से भंडारित है। इसमें धर्मशास्त्र के लिए एक नया केंद्र भी खुला है, जिसे योगानंद सेंटर फॉर थियोलॉजी कहा जाता है। ये धर्म और आध्यात्मिकता में रुचि रखने वाले लोगों को विशेष रूप से पसंद आएगा।
पुस्तकालय की आजीवन सदस्यता के लिए पुस्तकालय 1000/- रुपये की गैर-वापसी योग्य सुरक्षा जमा रखेगा जिससे वे पुस्तकालय से पुस्तकें प्राप्त कर सकेंगे।
यह भी ध्यान दिया जा सकता है कि पुस्तकालय पूरी तरह से वाईफाई सक्षम है और सदस्य खुले स्रोतों के माध्यम से लाखों पुस्तकों तक पहुंच सकते हैं। कर्नल गिल ने कहा कि पुस्तकालय में ईबीएससीओ के नाम से एक ऐसे स्रोत की संस्थागत सदस्यता है, जिसके लिए सोलन निवासियों को कुछ भी भुगतान नहीं करना पड़ता है। “विश्वविद्यालय सोलन के निवासियों से व्यापक संरक्षण की आशा करता है। यह उन लोगों से किताबें प्राप्त करने के लिए भी खुला है जो पुस्तकालय को किताबें दान करना चाहते हैं”, उन्होंने कहा।

जो इच्छुक हैं वे वरिष्ठ पुस्तकालयाध्यक्ष से फोन नंबर 7807448785 और 7018502895 और मेल आईडी : artikushal.564@shooiniuniversity.com पर संपर्क कर सकते हैं