Fri. Apr 12th, 2024

सोलन, 10 अक्टूबर
स्कूल स्तर पर शोध करने के उद्देश्य से, शूलिनी विश्वविद्यालय ने डीसीएम ग्रुप ऑफ स्कूल्स, पंजाब के साथ एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए हैं। यह पहली बार है जब विश्वविद्यालय ने किसी स्कूल के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं। यह समझौता डीसीएम ग्रुप के छात्रों के लिए जूनियर रिसर्च स्टूडेंट फेलोशिप प्रोग्राम शुरू करके स्कूलों में शोध की संस्कृति बनाने का अवसर प्रदान करेगा।

एमओयू पर श्री अनिरुद्ध गुप्ता, सीईओ, डीसीएम ग्रुप ऑफ स्कूल्स के साथ, शूलिनी विश्वविद्यालय कुलपति प्रो. पीके खोसला द्वारा ऑनलाइन हस्ताक्षर किए गए, प्रोफेसर खोसला ने कहा कि इस समझौते से स्कूली छात्रों में शोध की बुनियादी बातों को विकसित करने में मदद मिलेगी और वे अनुसंधान और नवाचार के क्षेत्र में योगदान करने में सक्षम होंगे।
डीसीएम ग्रुप ऑफ स्कूल्स 1946 से विश्व स्तर की शिक्षा प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध स्कूलों का एक समूह है और पंजाब, हरियाणा और अन्य राज्यों में इनके स्कूलों की शाखाएं है।

शूलिनी विश्वविद्यालय आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस तकनीक पर डीसीएमजीएस का समर्थन करेगा और छात्रों के लिए तीन दिनों का सॉफ्ट स्किल प्रोग्राम भी प्रदान करेगा। स्कूली छात्रों के लिए एक विशेष कार्यक्रम, जूनियर एमबीए, संयुक्त रूप से बनाया जाएगा और शूलिनी कौशल-आधारित स्कूल पाठ्यक्रम के उन्नयन में भी मदद करेगी।