Sat. May 25th, 2024

स्वच्छता ही सेवा है इसमें सबकी सहभागिता तथा समाज में रह रहे हर व्यक्ति को निसंकोच तथा निस्वार्थ अपना सहयोग देना आवश्यक है।

स्वच्छता ही सेवा है इसमें सबकी सहभागिता तथा समाज में रह रहे हर व्यक्ति को निसंकोच तथा निस्वार्थ अपना सहयोग देना आवश्यक है। यह बात आज उपायुक्त शिमला आदित्य नेगी ने इन्स्टीच्यूट् ऑफ होटल मैनेजमेंट कुफरी से ढली तक जिला ग्रामीण विकास अभिकरण शिमला तथा साडा के संयुक्त तत्वाधान् में आयोजित स्वच्छ भारत मिशन अभियान 2021 के तहत स्वच्छता अभियान के दौरान कही।
उन्होंने कहा कि स्वच्छ भारत मिशन के तहत पिछले 15 दिनों से जिला में जिला, खण्ड तथा पंचायत स्तर पर इस कार्यक्रम को चलाया जा रहा है। इस कार्यक्रम के तहत जिला के सभी पंचायत प्रतिनिधि तथा आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, आशा वर्करों एवं ग्रामीण तथा शहरी स्तर पर लोगों के सहयोग से सफाई अभियान चलाया जा रहा है।
उन्होंने कहा कि लोगों द्वारा मेरा कचरा मेरी जिम्मेदारी को समझ कर अपने-अपने ग्रामीण तथा शहरी क्षेत्रों में रह रहे लोगों से आग्रह किया कि आप इस जिम्मेदारी को समझ कर अपने आसपास पड़े कचरे को स्वयं उठाए, जिससे स्वच्छ भारत मिशन का लक्ष्य पूर्ण हो सके और हम गर्व से कह सके हमने एक स्वच्छ समाज के निर्माण करने में अपनी सहभागिता निभाई है।
उपायुक्त ने आज स्वयं भी श्रम दान कर मेरा कचरा मेरी जिम्मेदारी के तहत इन्स्टीच्यूट् आॅफ होटल मैनेजमेंट कुफरी से ढली तक कचरा एकत्रित किया तथा जिला के ग्रामीण व शहरी लोगों के पंचायत प्रतिनिधि तथा जनता से आग्रह किया कि वे भी मेरा कचरा मेरी जिम्मेदारी कर अपने आसपास श्रम दान कर इस अभियान को सफल बनाए।
इस अवसर पर अतिरिक्त उपायुक्त किरण भड़ाना, डीआरडीए के परियोजना अधिकारी संजय भगवती, खण्ड विकास अधिकारी मशोबरा अंकित कोटिया शर्मा तथा साडा के अधिकारी व कर्मचारी ने इस सफाई अभियान में सहयोग दिया।
.0.