Tue. Jun 25th, 2024

कॉमन लॉ एडमिशन टेस्ट 2021, 23 जुलाई, 2021 को ऑफलाइन मोड में आयोजित किया
जाएगा। भारत में 22 राष्ट्रीय कानून विश्वविद्यालयों (एनएलयू) और लगभग 40 संबद्ध
लॉ कॉलेजों में वर्ष 2020-21 में प्रवेश के लिए नेशनल लॉ स्कूल ऑफ इंडिया यूनिवर्सिटी,
नगरभवी, बेंगलुरु द्वारा परीक्षा आयोजित की जाएगी।
डॉ अंशु कटारिया, चेयरमैन, आर्यन्स कॉलेज ऑफ़ लॉ, राजपुरा नज़दीक चंडीगढ़ ने कहा कि
आर्यन्स कॉलेज ऑफ़ लॉ पंजाब का पहला कॉलेज है जो अब उन टॉप यूनिवर्सिटीज़ और
कॉलेज ऑफ़ लीगल स्टडीज़ का हिस्सा बन गया है, जो एलएलबी (3 वर्ष) और बीए-
एलएलबी (5 वर्ष) कार्यक्रम में प्रवेश के लिए क्लैट स्कोर का उपयोग करते हैं।
कटारिया ने आर्यन्स को क्लैट का हिस्सा बनाने के लिए क्लैट समिति को धन्यवाद दिया
और इसके प्रवेश के लिए क्लैट स्कोर का उपयोग करने की अनुमति दी। कटारिया ने आगे
छात्रों और फैकल्टी को लॉ कॉलेज में शिक्षा, नवाचारों आदि में किए गए अपने प्रयासों के
साथ कम समय में शीर्ष स्थान पर ले जाने के लिए धन्यवाद दिया।
कटारिया ने आगे कहा कि उत्तर भारत में चंडीगढ़, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, जम्मू
कश्मीर आदि के छात्रों के लिए सबसे पसंदीदा स्थान बनकर उभरा है।
क्लैट, 2021 पात्रता मानदंड:
अंडरग्रेजुएट प्रोग्राम (पांच वर्षीय इंटीग्रेटेड लॉ डिग्री) के लिए आवेदक को एससी/एसटी
श्रेणियों के अलावा सभी श्रेणियों के लिए न्यूनतम 45% अंकों के साथ 10+2 या समकक्ष
परीक्षा में उत्तीर्ण होना चाहिए और एससी/एसटी श्रेणी में आवेदक के 40% अंक होना

आवश्यक है । यूजी और पीजी दोनों के लिए प्रत्येक गलत उत्तर के लिए 0.25 अंक का
नकारात्मक अंकन किया जाएगा।
पोस्ट-ग्रेजुएट प्रोग्राम (एक वर्ष एलएलएम डिग्री) के लिए आवेदक के पास कम से कम 55%
अंकों के साथ एलएलबी की डिग्री होनी चाहिए। एससी/एसटी श्रेणियों से संबंधित
उम्मीदवारों को एलएलबी डिग्री में 50% अंक होने चाहिए। उम्मीदवार जो मार्च/अप्रैल/मई
2021 में योग्यता परीक्षा में उपस्थित हो रहे हैं, वे भी आवेदन करने के लिए पात्र हैं।